भूलकर भी न खेलें ये 5 गेम्स, वरना आपके घर में आ सकते हैं 'भूत'

0
108


भूलकर भी न खेलें ये 5 गेम्स, वरना आपके घर में आ सकते हैं 'भूत'

दुनियाभर में भूतों से बात करने या उन्हें बुलाने के लिए कई तरह के गेम्स खेले जाते हैं. ऐसे ही कुछ गेम्स के बारे में हम आपको यहां बताने जा रहे हैं जिसे खेलने की गलती आप कभी ना करें.

News18Hindi

Updated: March 5, 2019, 3:25 PM IST

बचपन से लेकर अभी तक आपने कई तरह के गेम्स खेले होंगे. कभी बोरियत मिटाने के लिए तो कभी दोस्तों के साथ मस्ती करने के लिए. लेकिन क्या कभी आपने सोचा है कि किसी खेल को खेलने से आपके घर में भूतों की दस्तक हो सकती है. अगर नहीं तो ये खबर पढ़कर आपके रौंगटे जरूर खड़े हो जाएंगे. दुनियाभर में भूतों से बात करने या उन्हें बुलाने के लिए कई तरह के गेम्स खेले जाते हैं. ऐसे ही कुछ गेम्स के बारे में हम आपको यहां बताने जा रहे हैं जिसे खेलने की गलती आप कभी ना करें.

बल्डी मैरी: बल्डी मैरी दुनिया के सबसे डरावने खेल में से एक माना जाता है. इस गेम को खेलने के लिए आपको शीशे में देखकर तीन बार ‘ब्लडी मैरी’ का नाम पुकारना पड़ता है. ऐसा कहते हैं कि रात में इस खेल को खेलने पर सचमुच ‘बल्डी मैरी’ शीशे में दिखाई देती है.

ओइजा बोर्ड गेम: आपने हॉलीवुड फिल्म ‘द कंज्यूरिंग’ में भी इस गेम का नाम सुना होगा. दुनियाभर में यह गेम भूतों और आत्माओं को बुलाने और उनसे बात करने के लिए सबसे ज्यादा मशहूर है. ओइजा बोर्ड गेम में आप बोर्ड पर रखे लेटर्स की मदद से आत्माओं से किसी भी तरह का सवाल पूछ सकते हैं, जिसका जवाब आत्मा देती है. लेकिन ध्यान रहे, भूलकर भी कभी ये पूछने की गलती ना करें कि आपकी मौत कब होगी.

द क्लोसेट गेम: दुनियाभर में क्लोसेट गेम के नाम से मशहूर ये खेल शैतान को बुलाने के लिए खेला जाता है. इस गेम को खेलने के लिए लोग खुद को रात के समय एक कमरे में क्लोसेट के अंदर बंद कर लेते हैं और फिर माचिस जलाकर धीरे से बोलते हैं, ‘मुझे रौशनी दिखाओ या अंधेरे में छोड़ दो’. लोगों का मानना है कि ऐसा करने से शैतान आता है. लेकिन ध्यान रहे इस गेम को खेलने के दौरान माचिस कभी बुझनी नहीं चाहिए, वर्ना कुछ भी हो सकता है.

चार्ली-चार्ली गेम: कुछ साल पहले सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने वाला यह गेम भी ओइजा बोर्ड की तरह ही खेला जाता है. इस गेम में भी आत्मा या भूत से सवाल पूछे जाते हैं जिसका जवाब वह बोर्ड पर रखे पेंसिल को ‘यस’ और ‘नो’ की तरफ घुमा कर देते हैं.

ब्लू बेबी ब्लू: बल्डी मैरी की तरह ही इस गेम को भी रात के अंधेरे में शीशे के सामने खेलते हैं. लेकिन इस खेल में बल्डी मैरी की जगह बिना रूके 13 बार ‘ब्लू बेबी, बेबी ब्लू’ बोलना होता है, जिसके बाद आपको अपने हांथ में एक छोटे बच्चे का वजन महसूस होगा. लेकिन ध्यान रहे, यह बच्चा आपकी जान को खतरे में भी डाल सकता है.

और भी देखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here